Showing posts with label HEALTH TIPS. Show all posts
Showing posts with label HEALTH TIPS. Show all posts

Monday, 20 November 2017

तुलसी के पत्ते खाने के अनगिनत फायदे

तुलसी के पत्ते खाने के अनगिनत फायदे

तुलसी के पत्ते खाने के अनगिनत फायदे 

तुलसी के पत्ते खाने के अनगिनत फायदे

तुलसी भारत में हिन्दुओं के लिए पूजनीय पौधा है, इसे अधिकतर हिन्दू परिवारों के घर के आंगन में देखा जा सकता है. हिन्दुओं में ऐसी मान्यता है कि तुलसी के पूजा करने से परिवार में सुख-समृद्धि बनी रहती है. तुलसी में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं इसलिए इसका आयुर्वेदिक में महत्वपूर्ण स्थान है.


तुलसी के पत्ते में कई पोषक तत्व जैसे विटामिन ए, विटामिन सी, आयरन, कैल्शियम, मैगनीज और ओमेगा 3 मौजूद होते हैं. तुलसी में एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल के गुण पाए जाते हैं जो छोटे-मोटे बीमारी से तुरंत छुटकारा दिला देता है. ऐसे में तुलसी के पत्ते का रोज सुबह सेवन करने से आपकी स्वास्थ्य ठीक रहेगा. यहाँ हम रोज सुबह तुलसी के पत्ते खाने से होने वाले लाभ के बारे में बताने वाले हैं.

रोज सुबह तुलसी के पत्ते खाने से होते हैं ये अनगिनत फायदे


1.रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है -

रोज सुबह नहाने के बाद खाली पेट 3 से 5 तुलसी के पत्ते चबाकर खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है. जिसकी वजह से बार-बार होने वाली बुखार और कमजोरी से छुटकारा मिल जाएगा. आपको बता दें कि जब हमारे शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है तभी बुखार जैसी कई बीमारी होती है.

2. मुंह की बदबू से छुटकारा -

रोज सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते खाने से मुंह से आने वाली की समस्या से निजात मिलता है. अगर आपको भी यह समस्या हैं तो जरुर तुलसी के पत्ते का सेवन करें.

3. सर्दी-जुकाम में राहत -

सर्दी और जुकाम होने पर तुलसी का पत्ता रामबाण साबित होता है. सर्दी-जुकाम होने पर तुलसी के पत्ते चबा-चबाकर खाना चाहिए या फिर चाय में तुलसी के पत्ते मिलाकर पीना चाहिए. ऐसे करने से कुछ ही मिनटों में इस बीमारी से राहत मिल जाता है.

इसके अलावा और भी कई फायदे हैं, जैसे - आँखों की रोशनी बढती है, मानसिक व शारीरिक तनाव दूर होता है, खांसी के लिए फायदेमंद है, सिर दर्द से निजात मिलता है और त्वचा संबंधी रोग समाप्त हो जाते हैं.
 प्रोटीन पाउडर बनाने का तरीका जानिए

प्रोटीन पाउडर बनाने का तरीका जानिए

 प्रोटीन पाउडर बनाने का तरीका जानिए 


 प्रोटीन पाउडर बनाने का तरीका जानिए

आजकल हर कोई युवा अपने शरीर को मजबूत बनाने के लिए जिम जाना पसंद करता है. केवल जिम जाने से ही बॉडी नहीं बनती बल्कि इसके अनुरूप खुराक भी लेना जरुरी होता है. जिम जाने वालों के लिए सबसे जरुरी है प्रोटीन आहार लेना तभी बॉडी बन पाएगा, अन्यथा आपके जिम जाने का कोई मतलब नहीं रहेगा.

वैसे तो मार्केट में प्रोटीन पाउडर उपलब्ध होते हैं, लेकिन इसके लिए कुछ ज्यादा ही जेब ढीला करना पड़ता है और कभी-कभी ये साइड इफ़ेक्ट भी कर देता है. अगर कम बजट में ही प्रोटीन पाउडर पाना चाहते हैं तो इसे आप खुद घर पर बना सकते है, जो फायदे ही फायदे रहेगा और किसी प्रकार का साइड इफेक्ट होने का खतरा नहीं रहेगा. यहाँ हम घर पर प्रोटीन पाउडर बनाने की विधि बताने वाले हैं.

घर पर प्रोटीन पाउडर बनाने का तरीका ghar par protein powder kaise banaye in hindi


आवश्यक सामग्री -
  1. घर पर प्रोटीन पाउडर बनाने के लिए हमें इन चीजों की जरुरत होगी,
  2. मिल्क पाउडर या चॉकलेट पाउडर - 200 ग्राम,
  3. सोयाबीन - 200 ग्राम,
  4. बादाम - 200 ग्राम,
  5. मूंगफली - 200 ग्राम

बनाने की विधि -

सबसे पहले सोयाबीन, बादाम और मूंगफली को धूप में रखकर सूखा दें और इन तीनों को एक साथ मिलाकर मिक्सर की सहायता से अच्छी तरह पीस लें. जब यह पाउडर की तरह पीसा जाए तब इसे किसी बर्तन में निकालकर रख दें और इसमें मिल्क पाउडर मिला दीजिये, मिल्क पाउडर न होने पर चॉकलेट पाउडर भी मिला सकते हैं. इस तरह प्रोटीन पाउडर तैयार हो जायेगा.

ऐसे करें इस्तेमाल -

तैयार किए गए इस प्रोटीन पाउडर का सेवन रोज सुबह खाली पेट एक गिलास दूध के साथ कर सकते हैं. जो लोग जिम जाते हैं वे दूध में 5 चम्मच प्रोटीन पाउडर मिला सकते हैं और जो जिम नहीं जाते वे इसे 3 चम्मच मिलाएं. ऐसा करने से आपको मजबूत शरीर मिलेगा तथा वजन भी बढेगा और इसके अलावा अन्य कई फायदे होंगे.
इस प्रकार हमारे द्वारा बताए गए प्रोटीन पाउडर बनाने का तरीका को अपनाएं और घर पर ही बनाये और दबदबा शरीर पाएं.

Wednesday, 15 November 2017

मूली खाने 10 के फायदे  Benefits of Radish

मूली खाने 10 के फायदे Benefits of Radish

प्रिय दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको मूली खाने के अनेकों फायदें के बारे में बतायेंगें. दोस्तों मूल हमारे सेहत के लिए काफी फायदेमंद है लेकिन इसके प्रयोग करने के अगल-अलग तरीके है अगर मूली का प्रयोग सही तरीके से किया जाये तो ये किसी औषधी से कम नहीं है आइये जानते है मूली के फायदें
मूली खाने 10 के फायदे Benefits of Radish



मधुमेहः मूली खाने से या इसका रस पीने से मधुमेह में लाभ होता है.आधी मूली का रस दोपहर के समय मधुमेह (डायबिटीज) के रोगी को देने से लाभ होता है.

पीलिया (कामला, पाण्डु) : एक कच्ची मूली रोजाना सुबह सोकर उठने के बाद ही खाते रहने से कुछ ही दिनों में ही पीलिया रोग ठीक हो जाता है.

पेशाब के समय जलन व दर्दः आधा गिलास मूली के रस का सेवन करने से पेशाब के साथ होने वाली जलन और दर्द मिट जाता है.

पेशाब कम बननाः गुर्दे की खराबी से यदि पेशाब का बनना बंद हो जाए तो मूली का रस 50 मिलीलीटर रोजाना पीने से पेशाब फिर बनने लगता है.

पेट में दर्दः 1 कप मूली के रस में नमक और मिर्च डालकर सेवन करने से पेट साफ हो जाता है और पेट का दर्द भी दूर हो जाता है.

मूली का लगभग 1 ग्राम के चौथे भाग के रस में आवश्यकतानुसार नमक और 3-4 कालीमिर्च का चूर्ण डालकर 3-4 बार रोगी को पिलाने से पेट के दर्द में लाभ मिलता है.

हिचकीः मूली के कोमल पत्ते चबाकर रस चूसने से हिचकी तुरन्त बंद हो जाती है. मूली का रस हल्का-सा गर्म करके पीने से भी हिचकी बंद हो जाती है.

आंतों के रोगः मूली का रस आंतों में एण्टीसैप्टिक का कार्य करता हैं.

पथरीः 30 से 35 ग्राम मूली के बीजों को आधा लीटर पानी में उबाल लें. जब पानी आधा शेष रह जाए तब इसे छानकर पीएं. यह प्रयोग कुछ दिनों तक करने से मूत्राशय की पथरी चूर-चूर होकर पेशाब के साथ बाहर आ जाएगी. यह प्रयोग 2 से 3 महीने निरन्तर जारी रखें. मूली का रस पीने से पित्ताशय की पथरी बनना बंद हो जाती है.

बिच्छू के काटने परः मूली के टुकड़े पर नमक लगाकर बिच्छू के काटे स्थान पर रखने से दर्द शांत होता है. बिच्छू के काटे रोगी को मूली खिलाएं और पीड़ित स्थान पर भी मूली का रस लगाने से लाभ होता है.

Monday, 13 November 2017

संतरा खाने के फायदे orange benefits in hindi

संतरा खाने के फायदे orange benefits in hindi

संतरा खाने के फायदे क्या है orange benefits 

संतरा खाने के फायदे क्या है orange benefits

संतरे में विभिन्न प्रकार के विटामिन और अन्य महत्वपूर्ण तत्व उपस्थित होते हैं आइए जानते हैं हमारे शरीर के लिए संतरे खाने के फायदे किस प्रकार महत्वपूर्ण है-

orange के फायदे हिंदी में  orange benefits for skin in hindi

  • संतरे में "विटामिन सी" भरपूर मात्रा में होता है जिसेसे यह हमारे शरीर की प्रतिदिन आवश्यक 72 प्रतिशत "विटामिन सी" की मात्र को पूरा करता है।
  • विटामिन सी के अलावा संतरे में विटामिन ए की मात्रा में पाई जाती है जिसके कारण ये हमारी त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है।
  • संतरे में बीटा कैरोटीन, जेक्सनथिन पाया जाता है। यह हमारी आंखों में उपस्थित म्यूकस मेम्बरनेस को स्वस्थ रखता है।
  • संतरे में विटामिन सी की मात्रा होने की वजह से ही है हमें दिल के रोगों से बचाता है।
  • संतरे में फोलेट एसिड और विटामिन बी 9 होता है जोकि वाइटल ऑर्गन को मिंट कंडीशन में रखता है।
  • संतरे में डी-लिमोनेन कंपाउंड होता है जोकि बिभिन्न प्रकार कैंसर से हमारी रक्षा करता है।
  • संतरे में सॉल्युबल और इंसोल्युबले फाइबर पाया जाता है जोकि हमारे पेट को स्वस्थ रखता है।
दोस्तों अगर आपको यह जानकारी संतरा खाने के फायदे और इसके उपयोग पसंद आई हो तो कृपया लाइक, कमेंट और शेयर करना ना भूलें
और साथ में हमें फॉलो करें ताकि आपको हर रोज इस तरह की पोस्ट पढ़ने को मिलती रहे धन्यवाद।
सेहत के लिए अदरक खाने के फायदे ginger ke fayde hindi

सेहत के लिए अदरक खाने के फायदे ginger ke fayde hindi

सेहत के लिए अदरक खाने के फायदे ginger ke fayde hindi

अदरक है सेहत के लिए बहुत ही जरुरी, ginger ke fayde hindi

प्राचीन काल से ही अदरक का प्रयोग विभिन्न रोगों के लिए विभिन्न प्रकार से किया जाता है। अदरक में विशेष गुण होते हैं। आइये अदरक के फायदे इन हिंदी में  -

अदरक के औषधीय गुण और उसके फायदे 



  • अदरक फंगल इन्फेक्शन में बहुत ही लाभदायक है। अदरक की कुछ बूंदों को नारियल के तेल में मिलाकर फंगल इंफेक्शन से ग्रसित अंगों पर लगाने से शीघ्र ही लाभ मिलता है।
  • अदरक में हर प्रकार के दर्द को कम करने का गुण होता है। अदरक "वैनिलिओइड रिसेप्टर्स" पर काम करता है जोकि सेंसरी नर्व में पाया जाता है।
  • अदरक में "नैचुरली इम्प्रूव डायबिटीज" का गुण होता है और इन्सुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ाता है।
  • अदरक की छोटे टुकड़े को पीसकर गुनगुने पानी मे मिलाकर पीने से गले की खराश, खासी और जुकाम को राहत मिलती है।
  • थोड़े से अदरक के रस को गुनगुने पानी मे डालकर पीने से पीरियड्स में होने बाले दर्द और क्रेम्पस से राहत मिलती है।
दोस्तों और आपको यह जानकारी अदरक के फायदे पसंद आई हो तो कृपया लाइक, कमेंट और शेयर करना ना भूलें,साथ में हमें फॉलो करें ताकि आपको हर रोज नई जानकारी मिलती रहे धन्यबाद।
किशमिश खाने से ये 4 रोग जड़ से समाप्त हो जाते है health benefits of raisins

किशमिश खाने से ये 4 रोग जड़ से समाप्त हो जाते है health benefits of raisins

किशमिश के औषधीय गुण अंगूर को सुखाने के बाद ये किसमिस का रूप लेते हैं। जो गुण अंगूर में पाए जाते हैं वहीं गुण किसमिस में भी होते है। किसमिस सभी लोगो का पसंदीदा होता है खास कर बच्चो का, सांस्कृतिक व्यंजन बनाने में इसका प्रयोग मुख्य रूप से होता है। ये हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है। इसके सेवन से अनेक प्रकार के रोग दूर रहते हैं। आइए जानते है किसमिस के गुण के बारे में।


किसमिस के चमत्कारी फायदे हिंदी में health benefits of raisins




1. कैंसर को रोकती है  

किसमिस खाने से हमारे शरीर के अंग प्रणालियों और कोशिकाओं पर प्रभाव पड़ता हैं इसलिए किसमिस के सेवन से आप कैंसर को रोक सकते हैं.

मुनक्का खाने के फायदे

2. हड्डियों के लिए  

किसमिस में कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती है जो हमारी हड्डियों के लिए बहुत जरूरी है। इसके अलावा इसमें पोटैसियम और अन्य पोषक तत्व भी हैं जो हमारी हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

3. वजन बढ़ाने में  

स्वस्थ तरीके से वजन को बढ़ाने के लिए किसमिस बहुत अच्छा उपाय हैं क्योंकि ये ग्लूकोज से भरपूर होती हैं और इसमें बहुत अधिक मात्रा में ऊर्जा होती हैं। जो हमारे कम वजन को बढ़ाने में मदद करता है।

4. कब्ज से राहत  

कब्ज से छुटकारा पाने के लिए भी आप इसका सेवन कर सकते हैं। ये पेट में जाने के बाद वहां के पानी को सोख लेती है जिस वजह से इसके सेवन से कब्ज से राहत मिलता है।

खाते है अंडा तो इस खबर को जरूर पढ़ें Benefits of Eating Egg

खाते है अंडा तो इस खबर को जरूर पढ़ें Benefits of Eating Egg

सेहत के लिए अंडा प्रिय दोस्तों आज हम आपके लिए एक बहुत ही अच्छी खबर लेकर आए हैं ऐसे बहुत से लोग हैं जो अंडे का सेवन सिर्फ प्रोटीन पाने के लिए करते हैं.लेकिन अगर आप रोजाना अंडे का इस्तेमाल करेंगे तो आपको बहुत ज्यादा लाभ होगा.इसके बारे में आप लोगों को शायद नहीं पता है.तो चलिए आप सभी लोगों को आज हम बताते हैं अंडे के फायदे क्या है।

अंडा खाने के फायदे क्या है Benefits of Eating Egg


अंडा खाने के फायदे क्या है Benefits of Eating Egg 





   ऊर्जा   

यदि आप बहुत कठिन कार्य करते हैं यानी कि ज्यादा मेहनत वाला तो आप अंडे का इस्तेमाल जरुर कीजिए क्योंकि इसे खाने के तुरंत बाद ही आपको ऊर्जा मिलती है.जिसे आप नहीं थकेंगे और अपना काम कर पाएंगे।

  शरीर को मजबूत बनाना  

यदि कोई भी व्यक्ति अंडे का प्रतिदिन सेवन करता है तो उसका शरीर मजबूत और ताकतवर बन जाएगा.क्योंकि इसमें प्रोटीन और विटामिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है.जो शरीर को मजबूत और फौलादी बनाने में मदद करता है.इसके सेवन से आप स्वस्थ भी रहेंगे।

egg nutritional benefits


  दर्द में बहुत ही फायदेमंद है अंडा  

हर अंडे का सेवन करने वाला व्यक्ति जानता है कि उसके दर्द अन्य व्यक्तियों के अपेक्षा दर्द कम होता है.क्योंकि हमारी हड्डियां मजबूत होते हैं इसमें प्रोटीन और विटामिन बहुत ही अधिक मात्रा में पाया जाता है अंडा खाने के फायदे बहुत होते है.

अगर आपको हमारी खबर अच्छी लगे तो फॉलो करना ना भूले।


जरुर पढ़ें खीरा के गुण cucumber benefits

जरुर पढ़ें खीरा के गुण cucumber benefits

खीरा के गुण cucumber benefits

खीरा खाने से होते है ये 5 महत्वपूर्ण फायदे, जरुर पढ़ें


खीरे की खेती दुनियाभर में की जाती है। इसका प्रयोग सामान्यतः सलाद के रूप में किया जाता है। आइए जानते हैं खीरे के महत्वपूर्ण गुण क्या है-

cucumber benefits and side effects



  • खीरा विटामिन बी का अच्छा स्रोत माना जाता है। इसमें विटामिन बी1, विटामिन बी5, और विटामिन बी7 होता है जो कि हमारे दिमाग से एंग्जायटी और स्ट्रेस को दूर करने में सहायक है।

  • खीरे का सेवन करने से हमारे मुंह के हानिकारक बैक्टीरिया से हमें छुटकारा मिलता है। खीरा हमारे पेट में होने वाली जलन को शांत करता है और पेट को ठंडक प्रदान है।

  • खीरे में पानी और फाइबर की मात्रा अधिक होती है। खीरे का जूस या सलाद का प्रयोग करने से यह हमारे शरीर में होने वाली फाइबर की कमी को पूरा करता है।

  • खीरे में कैलोरीज बहुत कम होती है( एक कप खीरे की सलाद में लगभग 16 कैलोरीज होती हैं) जो कि हमारी डाइजेशन की गति को धीमा करने के लिए महत्वपूर्ण होता है। इसलिए वजन को कंट्रोल करने के लिए फाइबर युक्त भोजन करना अति आवश्यक होता है।


  • खीरे में पोटेशियम की मात्रा होती है, जोकि ब्लड प्रेशर को कम करता है। हमारे शरीर के लिए पोटेशियम बहुत जरूरी तत्व होता है। हमारे शरीर के भीतरी कोशिकाओं को सही रूप में कार्य करने के लिए पोटेशियम बहुत ही महत्वपूर्ण तत्व होती है।


दोस्तों आपको ये जानकारी कैसी लगी? कृपया लाइक और कमेंट जरुर करें।हर रोज़ महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए हमे फोलो भी करे ।
रोज़ अनार खाने के 10 फायदे आपको पता भी नहीं होंगे pomegranate benefits

रोज़ अनार खाने के 10 फायदे आपको पता भी नहीं होंगे pomegranate benefits

रोज़ अनार खाने के 10 फायदे आपको पता भी नहीं होंगे pomegranate benefits

अनार  pomegranate benefits

अनार एक लाभकारी फल होता है। जो कि किसी भी मौसम में खाया जा सकता है। आइए जानते हैं अनार के लाभकारी गुण क्या है -



  • अनार में पुनिसिक एसिड, एलेजिक एसिड और ओमेगा 5 पाया जाता है जोकि कोशिका का रीजनरेशन और प्रोलीफेरशन करता है।
  • प्रत्येक दिन अनार का सेवन घातक कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल का निर्माण करता है।
  • इसमें एन्टी-बैक्टीरियल और एन्टी-माइक्रोबायल गुण होते हैं जोकि हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को बनाये रखता है और हमें स्वस्थ रखता है।
  • ये भूख को बढ़ाता है और प्यास को कम करता है। ये हमारे पेट के लिए अच्छे टॉनिक की तरह काम करता है।
  • इसमें आयरन की मात्रा होती है जोकि एनीमिया से हमारा बचाव करता है।
  • ये यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को ठीक करने में अति लाभकारी है।
  • pomegranate benefits for weight loss पुनिकलगिन्स एक तत्व होता है जोकि केवल अनार में पाया जाता है। जोकि हमारे दिल और ब्लड वेसल्स के लिए अति लाभकारी होता है।
  • ये हमारे दिमाग की सोचने की शक्ति को बढ़ाता है
  • ये ऑस्टिओकरथीरिटिस, आर्थराइटिस और हड्डियों के इंफ्लामेंशन से हमें आराम देता है।
  • इसमे विटामिन A, C, E और फोलिक एसिड पाया जाता है। हर रोज़ अनार खाने से ये विटामिन की कमी को पूरा करता है।

पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें और हमे फॉलो करें।
रोजाना एक टमाटर खाने के फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप

रोजाना एक टमाटर खाने के फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप

रोजाना एक टमाटर खाने के फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप health benefits of tomato

health benefits of tomato

टमाटर को अक्सर एक सब्जी माना जाता है, हालांकि वास्तविकता में यह एक फल हैं, टमाटर में विटामिन ए, सी, फोलेट, पोटेशियम युक्त थायामिन, विटामिन बी 6, मैग्नीशियम और फास्फोरस होता है जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक हैं।


टमाटर के स्वास्थ्य लाभ कुछ इस प्रकार है:tomato benefits 

  ➤ त्वचा को स्वस्थ रखता है  

टमाटर में लाइकोपीन होता है, जो एक एंटीऑक्सिडेंट है, यह आपकी त्वचा को सूरज की क्षति से बचाता है। यह त्वचा पराबैंगनी प्रकाश की क्षति और झुर्रियों के मुख्य कारणों को कम करता है। इसके अलावा, बड़े छिद्रों को कम करने के लिए टमाटर का इस्तेमाल किया जा सकता है।

  ➤ हड्डियों स्वास्थ्य रखता है  

विटामिन k और कैल्शियम की उपस्थिति के कारण टमाटर आपकी हड्डियों के लिए अच्छा हैं। दोनों ही तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने और मरम्मत करने के लिए उत्कृष्ट हैं।

  ➤ कैंसर को ठीक करने में
कैंसर से बचने के लिए रोज एक टमाटर जरूर खाएं।


जानिए आपको किस उम्र में कितने बादाम खाने चाहिए

जानिए आपको किस उम्र में कितने बादाम खाने चाहिए

कितने बादाम खाने चाहिए दोस्तों आप यह तो जानते हैं कि बादाम खाना सेहत के लिए लाभदायक होता है लेकिन आपको इसका सेवन कितना करना है यह नहीं पता होता जिससे कि यह कभी-कभी नुकसान कर जाता है तो आज हम आपको बताएंगे कि आप बदाम खाने के सही तरीके क्या है।

BAADAM KE FAYADE Badam Ke Benefits  Almond

बादाम खाने का तरीका कितने बादाम खाने चाहिए


बादाम हमेशा सुबह ही खाना चाहिए और उसे खाने से पहले पानी में भिगोकर रख देना चाहिए जिससे कि  Badam  का छिलका उतर जाए। दोस्तों बदाम खाने के लिए हर उम्र में अलग-अलग लिमिट होती है और यह मौसम पर भी निर्भर करता है कि आप को कितने बादाम खाने चाहिए।

दोस्तों अगर आपकी उम्र अभी 10 साल से कम है तो आपको गर्मियों के मौसम में 1 दिन में केवल दो बदाम खाने हैं और सर्दियों के मौसम में आप तीन भी खा सकते हैं अगर आप इससे ज्यादा खाएंगे तो यह आपको नुकसान ही करेगा।

बादाम खाने का सही समय क्या है

दोस्तों अगर आप की उम्र 10 साल से ज्यादा है तो आप गर्मियों में 1 दिन में 5 बादाम खा सकते हैं और सर्दियों के मौसम में 1 दिन में साथ बादाम खा सकते हैं अगर आप इससे ज्यादा खाएंगे तो यह आपकी पेट की गर्मी को बढ़ा देगा जिससे कि आपको पेट की बीमारी लग सकती है।
लौंग के फायदे और घरेलु नुस्खे हिंदी में

लौंग के फायदे और घरेलु नुस्खे हिंदी में

लौंग के फायदे और घरेलु नुस्खे हिंदी में 


लौंग के फायदे और घरेलु नुस्खे हिंदी में



लौंग के औषधीय गुण क्या है 


आपको हम बतादे की लौंग का आयुर्वेद के ग्रंथों में विशेष अधिकार है क्योंकि सर्दियों में इसका उपयोग आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किया जाता है। लौंग को रसोई के मसाले में ही नहीं बल्कि औषधि के रूप में भी काम में लेते हैं। लौंग को अलग-अलग तरीके से काम में लिया जाए तो इससे कई तरह की बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। तो आइए देखते हैं लोंग के लाभ के बारे में

आयुर्वेद के ग्रंथों के अनुसार लौंग को मुंह में रखकर चूसने से मनुष्य की खांसी बंद हो जाती है, जब तक लौंग मनुष्य के मुंह में रहती है खांसी नहीं आती।

 लौंग खाने से क्या होता है

हम आपको बता दें कि आयुर्वेद के ग्रंथों में यह भी कहा गया है कि लौंग को पीसकर 100 ग्राम पानी में मिलाकर उसे छानकर मिश्री के साथ मिलाकर उसे पीने से मनुष्य के हृदय में जलन की समस्या दूर हो सकती है। आपको हम अधिक जानकारी के लिए बता दें कि कुछ लोग लौंग का उपयोग बकरी के दूध में घिसकर रतौंधी के उपचार के लिए भी करते हैं। अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक और कमेंट करना ना भूले और ऐसी ही जानकारी आगे भी पढ़ते रहने के लिए फॉलो जरूर करें।
भिन्डी खाने के ये 6 फायदे lady finger benefits in hindi

भिन्डी खाने के ये 6 फायदे lady finger benefits in hindi

भिन्डी खाने के फायदे हिंदी में lady finger benefits in hindi

भिन्डी खाने के ये 6 फायदे

भिन्डी एक साधारण सब्जी होती है लेकिन इसमें बहुत से लाभकारी गुण होते है। आइये जानते हैं भिन्डी के फायदे क्या है -

  • इसमें फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है। जो कि हमारे पूरे डाइजेस्टिव सिस्टम को साफ रखता है। ये कोलन कैंसर से हमारी रक्षा करती है।
  • इसमें भारी मात्रा में डिएट्री फाइबर होते है। जोकि डायबिटिक लोगो के ब्लड में ग्लुकोज़ की मात्रा को नियंत्रित करता है।
  • कच्चे भिंडी खाने के फायदे डिएट्री फाइबर, मोटापे से ग्रस्त लोगों के लिए सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि ये उनके वजन को कंट्रोल करता है इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। जो व्यक्ति अपना वजन कम  करना चाहता है उसके लिए ये बहुत लाभदायक है।
  • इसमे आयरन और फोल्ट्स की अधिक मात्रा होती है जिसकी वजह से ये हीमोग्लोबिन को बढ़ाती है जोकि हमारी त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक है।
  • भिंडी के औषधीय गुण ये ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाती है जो कि हमारे सिर के बालों के डेंड्रफ और अन्य रोगों से बचाती है।

मोटापे को खत्म करना है तो इस चावल का सेवन करना कभी मत भूलना

मोटापे को खत्म करना है तो इस चावल का सेवन करना कभी मत भूलना

मोटापे को खत्म करना है तो इस चावल का सेवन करना कभी मत भूलना

मोटापे को खत्म करना है तो इस चावल का सेवन करना कभी मत भूलना

दोस्तों आज कल देखा जाये तो मोटापे की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है जो की आने वाले समय में शायद और बढ़ जाये। इसलिए इसे ख़त्म करना भी जरुरी है क्योंकि मोटापे के वजह से सबसे ज्यादा बीमारी होने की संभावना बढ़ जाती है। यदि आप भी परेशान हैं मोटापे के चलते तो आज का यह पोस्ट जरूर पढ़ें। क्योंकि आज के इस पोस्ट में मैं आपको एक ऐसे चावल के बारे में बताने वाला हूँ जिसे शायद प्रकृति ने मोटापे को ही ख़त्म करने के लिए बनाया है। तो आइये जानते हैं इस चावल के बारे में।

जिस चावल के बारे में हम बात कर रहे हैं यह छोहारटू किस्म के नाम से हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में पाया जाता है। यहाँ पर इसकी पैदावार सबसे ज्यादा होती है या फिर ये कहें कि यहीं से इस चावल की सप्लाई होती है तो गलत नहीं होगा। सामान्यतः इस चावल का रंग लाल होता है। सोध में ऐसा पाया गया है कि इस चावल के अंदर मोटापे को कम करने की ताकत के साथ साथ एनीमिया जैसे रोग को भी ख़त्म करने का गुण है। चावल के इस वेराइटी में एंटी ऑक्साइड के साथ साथ मैग्नीशियम भी काफी मात्रा में पाया जाता है जो की हमारे शरीर के लिए काफी आवश्यक है।

वर्तमान समय में इस चावल की कीमत 50 से 100 रूपए तक प्रति किलो है। आपको बता दें कि कृषि विश्वविद्यालय ने इस चावल को पेटेंट करवा दिया है और साथ ही इस चावल पर और भी सोध किये जा रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि यदि इस चावल को बाजार में सही कीमत पर लाया जाये तो इंटरनेशनल मार्केट में इसकी काफी डिमांड बढ़ सकती है।

तो दोस्तों ये थे चावल के कुछ गुण और इससे होने वाले लाभ तो यदि आप बढ़ते पेट से काफी ज्यादा परेशान हैं तो इस चावल को जरूर यूज़ करें। मुझे उम्मीद है ये पोस्ट आपको जरूर अच्छा लगा होगा। इसी तरह और भी नए अप्डेट्स पाने के लिए आज ही gyankaguru को फॉलो करें।
ये 5 लक्षण दिखे तो समझ जाना आपके अंदर कैल्शियम की कमी है

ये 5 लक्षण दिखे तो समझ जाना आपके अंदर कैल्शियम की कमी है

ये 5 लक्षण दिखे तो समझ जाना आपके अंदर कैल्शियम की कमी है

दोस्तों कैल्शियम हमारे शरीर का बहुत ही इम्पोर्टेन्ट तत्व होता है। अगर इसकी कमी हो जाये तो काफी समस्या हो सकती है। इसलिए समय समय पर हमे कैल्शियम की जाँच जरूर कराना चाहिए। हड्डियों और दांतों की मजबूती के लिए कैल्शियम बहुत ही महत्वपूर्ण है अगर कैल्शियम की कमी हो जाये तो हमारी हड्डियों और दांतों पर सबसे ज्यादा इफ़ेक्ट पड़ता है। आज के इस पोस्ट में मैं आपको यही बताऊँगा की कैल्शियम की कमी के क्या पहचान हैं तो आइये जानते हैं।

ये 5 लक्षण दिखे तो समझ जाना आपके अंदर कैल्शियम की कमी है

1. सबसे पहला और खतरनाक पहचान है हड्डियों का कमजोर होना जब भी इंसान के अंदर कैल्शियम की कमी होती है तो हड्डियाँ इतनी कमजोर हो जाती है कि उसे आसानी से तोड़ा जा सकता है। कैल्शियम की कमी से मांसपेशियों में भी काफी जकड़न और दर्द बना रहता है।

2. कैल्शियम की कमी से दाँत बहुत ही कमजोर हो जाते हैं और गिरने लगते हैं। दांतो में सड़न भी पैदा हो जाता है जो की काफी दर्द और बदबू देता है। अगर आपके दांतों में सड़न या फिर दाँत कमजोर दिखें तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें।

3. थकान भी कैल्शियम के कमी का एक मुख्य पहचान है। कैल्शियम के कमी से हड्डियाँ और मांसपेशियां काफी कमजोर हो जाती हैं जिसके चलते अक्सर थकान बना रहता है।


4. बालों का झड़ना और रूखा होना भी कैल्शियम की कमी का संकेत है। यदि आपके साथ ऐसा हो रहा हो तो तुरन्त कैल्शियम की जाँच कराएं।

5. कैल्शियम की कमी से लड़कियों में माशिक धर्म में भी गड़बड़ी हो जाती है और काफी दर्द होता है।
दोस्तों ये थे कुछ 5 ऐसे पहचान जिनके होने पर हमे कैल्शियम की जाँच जरूर करानी चाहिए। मुझे उम्मीद है ये पोस्ट आपको जरूर अच्छा लगा होगा।
पुदीना एक फायदे अनेक, जाने इसके आरोग्यकारी गुण

पुदीना एक फायदे अनेक, जाने इसके आरोग्यकारी गुण

पुदीना एक फायदे अनेक, जाने इसके आरोग्यकारी गुण पुदीने के फायदे

पुदीने के फायदे

प्रिय दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको पुदीना खाने के अनेक लाभ के बारे में बतायेंगे, पुदीना हमें कई प्रकार की बीमारियों में फायदा पहुंचाता है दोस्तों हरी सुंगधित पत्तियों वाले पुदीने से कौन परिचित नही है. पुदीने में विटामिन ए, बी, सी, डी और ई के अतिरिक्त आयरन, फास्फोरस और कैल्सियम भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है. पुदीना उदर रोगों के लिए लाभकारी औषधि है. यह जुकाम, खाँसी, दमा, अर्जिर्ण, अफारा, अतिसार, हैजा तथा कृमि का नाश करता है पुदीने के पत्ते खुशबूदार तथा सुगंधित होते है तो दोस्तों आइये जानते है  पुदीना के औषधीय गुण.

पुदीना के घरेलु उपाचार पुदीने के फायदे पुदीना के उपयोग


  • वायु पीड़ा कम करने के लिए : १ चम्मच पुदीने का रस, २ चम्मच शहद, नींबू का रस, एक चम्मच मिलाकर पीने से पेट की गैस तथा वायु पीड़ा दूर हो जाती है.
  • पित्त रोग का उपाय : १० ग्राम पुदीना तथा २० ग्राम लाल शक्कर पानी में उबालकर पीने से पित्ते रोग दूर हो जाता है.
  • दाग धब्बे का इलाज : पुदीने की पत्तियों को पीसकर चेहरे पर लेप लगाने से मुंहासे तथा दाग-धब्बे दूर होते है.
  • बलगम : अंजीर के साथ पुदीने के पत्ते खाने से सिने में जमा हुआ बलगम साफ़ हो जाता है.
  • सर्दी जुकाम का इलाज : पुदीने की पत्तियां पानी में उबालकर उसकी भाप लेने से सर्दी-जुकाम ठीक हो जाता है.
  • हैजा-दस्त से छुटकारा : पुदीने के पत्तो का रस पिलाने से हैजा, दस्त तथा उल्टी में शीघ्र लाभ होता है.
  • मूत्र रोग का इलाज : मूत्र की बिमारीयों में पुदीने का सेवन लाभकारी होता है.
  • हिचकी बंद करने के लिए : अंजीर के साथ पुदीना के पत्ते खाने से हिचकी बंद होती है.
  • हैजा का इलाज : पुदीने का अर्क कपूर के साथ सेवन करने से लाभ होता है.
  • घाव ठीक करने के लिएः पुदीने की लुगदी बनाकर घाव पर लगाने से घाव ठीक हो जाता है.
  • भूख खुलना : पुदीने की चटनी का हररोज सेवन करने से भूक खुलकर लग जाती हैं.
  • नकसीर का इलाज : नकसीर आने पर ठंडे पानी में पुदीने का अर्क डालकर पीने से नकसीर बंद हो जाती है.

सर्दी में खायें हरी मटर, मटर खाने के फायदे

सर्दी में खायें हरी मटर, मटर खाने के फायदे

सर्दी में खायें हरी मटर, मटर खाने के फायदे pea health benefits

प्रिय दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको मटर खाने के अनेकों फायेद के बारे में बतायेंगे मटर सर्दी के मौसम की सब्जी है मटर का प्रयोग हम दाल बनाने, पूडी बनाने तथा शब्जी बनाने के लिए करते है यह खाने में स्वादिष्ट होता है तो दोस्तों आइये जानते है हरी मटर खाने से हमें क्या-क्या फायदा हैं
मटर खाने के फायदे

मटर की फली, सेम, फ्रेंचबीन के समान ही फली के रूप में सब्जी बनाने के काम आती है. फली के बीच में जो गोल दाना होता है वही खाने के काम आता है.


मटर कई प्रकार के होते है किंतु जो मटर खाने में स्वादिष्ट और मीठे होते है वे ही प्रयोग में आते है मटर को सुखाकर अन्य दालों के सामान ही काम में लाते है.

मटर मधुर, शीतल, वायुवर्धक व दस्तावर होती है दुर्बलता, रक्त की कमी, सामान्य कमजोरी की स्थिति में मटर अंत्यत उपयोगी है मटर को गरीब लोगों के लिए पोषक आहार माना गया है

मटर खाने के फायदे pea health benefits


  • आग से जलना :हरी मटर पीसकर जले हुए स्थान पर लगाने से जलन शांत होती है.

  • दुर्बलता :मटर को सब्जी के रूप में प्रयोग करने से दुर्बलता दूर होती है तथा दुबला-पतला शरीर मोटा होने लगता है.


  • सौंदर्यवर्धक :हरी मटर या सुखी मटर को पीसकर उसमे नींबू का रस मिलाकर उबटन की तरह मसलकर नहाने से शरीर का रंग निखरकर गोरा होता है.

  • चेहरे की कांति :मटर को भुनकर, संतरे के छिलको के साथ पीसकर कपड़छन कर ले. इसे दूध के साथ लेप बनाकर चेहरे और शरीर पर मले. इससे कांति बढती है तथा शरीर का सौंदर्य निखरता है.

  • कमजोरी :घी में मटर भुनकर खाने से कमजोर व्यक्तियों को लाभ होता है.

  • कब्ज :कच्ची मटर खाने से कब्ज दूर होता है.
कच्चा दूध पीने से आप हो सकते हैं इस बीमारी के शिकार

कच्चा दूध पीने से आप हो सकते हैं इस बीमारी के शिकार

कच्चा दूध पीने से आप हो सकते हैं इस बीमारी के शिकार कच्चा दूध पीने के नुकसान

कच्चा दूध पीने के नुकसान



इस लेख में हम आपको कच्चा दूध पीने के नुकसान के बारे में बतायेंगे. वैसे तो ये आम धारणा है कि कच्चा दूध पीना सेहत के लिए लाभप्रद है लेकिन एक शोध में चौका देने वाली बाते सामने आयी।
  • कच्चा दूध सेहत के लिए अच्छा होता है, अब तक तो यही सुनते आए हैं, लेकिन एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि पाश्चुरीकृत दूध की तुलना में कच्चा दूध सेहत के लिए घातक है. इसे पीने से खाद्य जनित बीमारियों के होने का खतरा सौ गुना तक बढ़ सकता है.

  •  71 वर्षीय एक वृद्ध पिछले दो महीने से सांस फूलने की बीमारी व लगातार बुखार से जूझ रहा था. जांच में पता चला कि वह ब्रूसीलोसिस से पीड़ित था. यह एक प्रकार का कीटाणु है, जो आमतौर पर जानवरों में पाया जाता है. बाद में उसने बताया कि स्वस्थ रहने के लिए वह नियमित रूप से बकरी के कच्चे दूध को पीता था. 
  • ब्रूसिला कीटाणु संक्रमित मवेशियों, बकरी, ऊंट और भेड़ आदि जानवरों के दूध में पाया जाते हैं. ऐसे में अगर आप कच्चे दूध का सेवन करते है तो ये कीटाणु मानव शरीर मे ंफैल सकते हैं. संक्रमित जानवरों के कच्चे मांस के सेवन से भी ये कीटाणु मानव शरीर में फैल सकते है.

दोस्तों आप से अनुरोध है हमसे जुड़े रहे, और हमारी इस जानकारी को लगातार लेते रहे और अपने आप को स्वस्थ्य रखे, और आप अपने दोस्तों को भी ये जानकारी शेयर करें ताकि वे भी स्वस्थ रहे और आपसे हमेशा जुड़े रहें।

चिकन खाने के 5 फायदे , जानकर हैरान रह जायोगे आप - जानिये

चिकन खाने के 5 फायदे , जानकर हैरान रह जायोगे आप - जानिये

चिकन खाने के 5 फायदे , जानकर हैरान रह जायोगे आप - जानिये

चिकन खाने के 5 फायदे , जानकर हैरान रह जायोगे आप - जानिये

Hello दोस्तों आप सभी का  Gyanguru.com में स्वागत है , आज हम आपको चिकन खाने के 5 शानदार फायदे बतायेंगे । आप जानते भी नहीं होंगे चिकन खाने के 5 फ़ायदे जिसे जानकार आप भी चिकन खाना शुरू कर देंगे  तो आइये बिना देर किये जानते है चिकन के 5 फायदे -

चिकन खाने के 5 फायदे

  • चिकेन प्रोटीन का एक बहुत ही अच्छा सोर्स है इसलिए आप अगर बॉडीबिल्डिंग कर रहे हैं तो चिकेन खाना आपके लिए सबसे अच्छा होगा |
  • अगर आपके शरीर में खून की कमी है तो आपको चिकेन ज़रूर खाना चाहिए क्योंकि चिकेन में काफ़ी में आयरन पाया जाता है |
  • चिकेन में भारी मात्रा में कैल्शियम और फॉस्फोरस पाए जाते हैं जिसकी वजह से आपकी हड्डियाँ और दांत हमेशा मज़बूत रहते हैं |
  • चिकन में विटामिन-B6 पाया जाता है जो आपके मेटाबोलिज्म को मज़बूत बनाता है |
  • चिकन में नियासिन भारी मात्रा में पाया जाता है जो आपको कैंसर से बचाता है |
जानिए कौन-सी दवाइयां है ज्यादा फायदेमंद, आयुर्वेदिक या एलोपैथिक

जानिए कौन-सी दवाइयां है ज्यादा फायदेमंद, आयुर्वेदिक या एलोपैथिक

जानिए कौन-सी दवाइयां है ज्यादा फायदेमंद, आयुर्वेदिक या एलोपैथिक

जानिए कौन-सी दवाइयां है ज्यादा फायदेमंद, आयुर्वेदिक या एलोपैथिक

जब मनुष्य बीमार पड़ता है तो दवाई लेने के लिए उसके मन में एक असमंजस बनी रहती है कि आयुर्वेदिक दवाइयां लें या एलोपैथिक दवाइयां. आजकल के लोग किसी भी बीमारी से शीघ्र ही छुटकारा पाना चाहता है और इसी वजह से वह एलोपैथिक दवाइयां लेना बेहतर समझता है.

Ayurveda vs allopathy in hindi


मनुष्य एलोपैथिक दवाई लेने से पहले यह नहीं सोचता कि इससे भविष्य में कुछ समस्या तो नहीं होगी. क्योंकि जिन बीमारियों के लिए एलोपैथिक दवाइयां लेते हैं तो उस बीमारी से तुरंत राहत मिल जाता है लेकिन इसके साइड इफेक्ट से कोई दूसरा बीमारी पैदा हो जाता है. जिसकी वजह से भविष्य में कभी भी गंभीर बीमारी घेर सकती है. जबकि आयुर्वेदिक इसके विपरीत है. आइये जानते है इनमें कौन-सा फायदेमंद है.
जानिए कौन-सी दवाइयां है ज्यादा फायदेमंद, आयुर्वेदिक या एलोपैथिक.

एलोपैथिक दवाइयों के फायदे और नुकसान -

एलोपैथिक दवाइयों के ज्यादा फायदे नहीं है. इसका मुख्य फायदा है कि एलोपैथिक दवाइयों का असर तुरंत देखने को मिलता है. इसलिए आपातकाल की स्थिति में यह बहुत फायदेमंद होती है.
जबकि अगर एलोपैथिक दवाइयों की नुकसान के बारे में बात करे तो यह पूरी तरह केमिकल से बना होता है जो इंसानी शरीर को अन्दर से खोखला करता जा रहा है. यह उस बीमारी के लिए फायदेमंद है जिसके लिए इसका सेवन किया जाता है, परन्तु यह शरीर के अन्य अंगो को प्रभावित करता है और भविष्य में इनके साइड इफेक्ट देखने को मिल सकता है.

आयुर्वेदिक दवाइयों के फायदे और नुकसान -



आयुर्वेदिक दवाइयों के अनगिनत फायदे हैं. हालाँकि इसका असर थोड़ी देर से होता है लेकिन इस दवाइयों से एक बार कोई रोग समाप्त हो जाये तो फिर दोबारा वही रोग होने की संभावना बिल्कुल भी नहीं रहती. आयुर्वेदिक दवाइयां बहुत ही सस्ते दाम पर उपलब्ध होते हैं, जिन्हें आसानी से खरीदा जा सकता है.
आयुर्वेदिक दवाइयों के फायदे को देखते हुए सरकार भी इसे बढ़ावा देना चाहते हैं, जिसकी वजह से आयुर्वेदिक में डिप्लोमा और डिग्री के कोर्स उपलब्ध कराएं हैं. वैसे तो आयुर्वेदिक दवाइयों से कोई नुकसान नहीं होता, यह देर से असर करता है जिससे लोगों को किसी बीमारी से निजात पाने के लिए अधिक समय की प्रतीक्षा करनी पड़ती है.
हमारे अनुसार भी आयुर्वेदिक दवाइयां एलोपैथिक से ज्यादा फायदेमंद हैं. भले ही लोगों को ठीक होने में अधिक समय लगे लेकिन यकीन मानिए इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है. जिससे भविष्य में आपको किसी भी प्रकार की बीमारी होने का खतरा नहीं रहेगा.